Mahila Bol

MahilaBol has changed the way women feel about Sexual Harassment at their Workplace. As a step forward to previous year, in December 2017 MahilaBol started in India in Partnership with Government of India and United Nations. Thousands of women have spoken from across the country, from the rural most districts to the most developed districts. The story is same and the desire to be free from Sexual Harassment is highlighted by every woman.

The collective voice of women in the form of findings and what they have spoken has been submitted to the relevant authorities, to review, understand and take recommended actions as deemed appropriate.

Together the women of India have made this change and started a revolution called MahilaBol.

The Solution is happening and everyday a women get benefited, or a livelihood is protected, we do hope, in due course, it will change the way women  experience the workplace.

Mahila Bol in Numbers

The task of MahilaBol was 2 fold, one to spread awareness of Sexual Harassment of Women at workplace and how women can tackle it, and the second task was to gather detailed insight way way of a questionnaire to have a strong data which can be used for drivingg solution. After all, we don’t want our daughter and grand daughters also to be sexually harassed at their workplace.

MahilaBol covered 200,000 women from more than 45 cities in India, it went to Rural, Urban and semi urban locations in 13 states of India. Eventually we were able to get detailed survey feedback of more than 35,000 women from more than 30 sectors. Mahila Bol also saw more than 30 NGO, Political Leaders, Media house and other influencers supporting the campaign.

History

Started in December 2016 as Voice of Women, the movement is focused at ending the menace of Sexually Harassing Women at their workplaces and treating them with respect and dignity. The movement is highlighting the fact with data and proposed solutions so women can see a change in their everyday work life.

hrhelpdesk-inside-slider-A-1
Slider

Follow Us

Together We Move

MahilaBol, the title itself reveals the complete effort and intent in mere two words. It thrusts upon the basic yet important aspect of women’s right, that is to ‘Speak Up’.

MahilaBol is a National Survey on Sexual Harassment of Women at Workplace, where the word ‘Mahila’ implies ‘Woman’, and ‘Bol’ ‘Speak Up’. Evidently, it is a platform for women to speak out by participating in the survey  being initiated by HRhelpdesk® ,  Ministry of Women & Child Development, Government of India and United Nations Women – India.

महिलाबोल (MahilaBol) शीर्षक से, केवल दो शब्दों में पूरा प्रयास और आशय का पता चलता है । यह महिलाओं के यौन उत्पीड़न के खिलाफ बोलने के बुनियादी परन्तु महत्वपूर्ण अधिकार परज़ोर देता है।

महिलाबोल (MhilaBol) कार्यस्थल में महिलाओं के यौन उत्पीड़न पर एक राष्ट्रीय सर्वेक्षण है, जहां ‘महिला’ शब्द का अर्थ है ‘महिला’ व ‘बोल’ शब्द प्रतीक है अपने अधिकारों के लिये कार्यस्थलपर महिलाओं द्वारा अावाज़ उठाना । ‘महिलाबोल’ महिलाओं के लिए, HRhelpdesk®, महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, भारत सरकार और संयुक्त राष्ट्र महिला – भारत द्वारा शुरू किए गएसर्वेक्षण में भाग लेने के लिए एक मंच है।

Article 21 of the Constitution of India guarantees women the right to live with dignity, and the right to practice any profession, or to carry on any occupation, trade or business, in a safe environment, free from sexual harassment.With MahilaBol, we encourage women to share their workplace experiences and challenges without any apprehensions or fear of being probed. More importantly, it’s a conscious attempt to hear from women and invite them to express their views about an ideal workplace, which ensures basic hygiene of safety, respect and equality.

In simpler terms, MahilaBol intends to understand women’s needs in terms of issues impacting them and how best they can be addressed, so that they can continue to be a part of the workforce and provide valuable contribution to the economic growth of the country.

भारत के संविधान का अनुच्छेद 21 महिलाओं को गरिमा के साथ जीने का अधिकार, और महिलाओं द्वारा किसी पेशे का अभ्यास करने, या किसी भी व्यवसाय या व्यापार को सुरक्षितवातावरण व यौन उत्पीड़न से मुक्त रखने को सुनिश्चित करता है। हम महिलाओं को किसी भी आशंका या जांच किए जाने के डर के बिना अपने कार्यस्थल के अनुभव और चुनौतियों को साझाकरने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। महत्वपूर्ण बात यह है कि महिलाबोल (MahilaBol), महिलाओं से सुनना और उन्हें एक आदर्श कार्यस्थल के बारे में अपने विचार व्यक्त करने का सचेतप्रयास है, जो सुरक्षा, सम्मान और समानता की बुनियादी स्वच्छता सुनिश्चित करता है।

सरल शब्दों में, महिलाबोल (MahilaBol) महिलाओं की जरूरतों को उन पर असर डालने वाले मुद्दों और उनसे बेहतर ढंग से संबोधित करने के मामले में समझने का सजग प्रयास है, ताकि वेकार्यबल का हिस्सा बन सकें और देश के आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण योगदान दे सकें।

The survey is aimed at women who have worked or are currently working, both as an employee or a entrepreneur.The survey will cover women across sectors and across hierarchy level, will be spread across 63 locations in India and shall be administered in 13 languages in India.

The scope is large and is aimed at understanding the objectives by seeking responses from working women across the country.

Apart from covering women across sectors and hierarchies, the survey will put a special focus on the sectors of  Information Technology, Retail, Tourism and Hospitality, Textiles & Garments, and Tea. The purpose is to get a deeper insight in these sectors as they not only contribute to a large proportion of women workforce, but form an important part of the countries economy.

यह सर्वेक्षण उन महिलाओं के लिये है जिन महिलाओं ने कर्मचारी या उद्यमी के रूप में पहले काम किया है या वर्तमान में काम कर रही हैं। सर्वेक्षण में विभिन्न क्षेत्रों में काम-काजी महिलाओं को पदानुक्रम स्तर पर शामिल किया जाएगा। इस सर्वेक्षण को भारत के 63 स्थानों पर किया जाएगा और इसे 13 भाषाओं में प्रशासित किया जाएगा।

महिलाबोल सर्वेक्षण का दायरा विशाल है और इसका उद्देश्य देश भर में काम कर रही महिलाओं से कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न पर प्रतिक्रिया जानकर उसे महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, भारत सरकार और संयुक्त राष्ट्र महिला – भारत तक ले जाना है।

क्षेत्रों और पदानुक्रम में महिलाओं को कवर करने के अलावा, सर्वेक्षण में सूचना प्रौद्योगिकी, खुदरा/फुटकर, पर्यटन और आतिथ्य, वस्त्र और वस्त्र और चाय के क्षेत्रों पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। ऐसा करने का उद्देश्य इन क्षेत्रों में गहराई में जा कर सचाई प्राप्त करना है क्योंकि इसमें महिला कार्यबल का एक बड़ा हिस्सा शामिल है और वे देशों की अर्थव्यवस्था का भी एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं।

The findings and valuable insights backed with data by executing the survey, across sectors and locations, will be presented to the decision makers, social workers and industry. The objective is to understand how the scenario is and then formulate action steps to effectively address the issue of Sexual Harassment of Women at Workplace.MahilaBol, is therefore, an opportunity for women, spanning various organized and unorganized sectors, to anonymously share their experiences of sexual harassment at workplace, without intimidation or fear. Since the survey is supported by the Ministry of Women and Child Development and United Nations Women, you can rest assured that your voice is reaching the right ears.

A simple exercise such as participating in MahilaBol survey will lend the much-needed support to a cause which will ensure that working women across the country can live a life of respect, dignity and equality.

सर्वेक्षणों और स्थानों में सर्वेक्षण निष्पादित करके डेटा के साथ प्राप्त निष्कर्षों और मूल्यवान दृष्टिकोण, निर्णायक मंडल, सामाजिक कार्यकर्ताओं और उद्योगों को प्रस्तुत किए जाएंगे। इसका उद्देश्य यह समझना है कि महिलाओं के सााथ कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न का परिदृश्य क्या है और फिर कार्यस्थल पर महिलाओं के यौन उत्पीड़न के मुद्दे को प्रभावी रूप से संबोधित करने के लिए कार्रवाई कदम तैयार किए जाएंगे।

महिला बोल, विभिन्न संगठित और असंगठित क्षेत्रों में महिलाओं के लिए एक अवसर है, कि वे बिना किसी डर, झिझक या धमकी या डर के, कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न के अपने अनुभवों को गुमनाम रूप से साझा कर सकती हैं। चूंकि सर्वेक्षण महिला और बाल विकास मंत्रालय और संयुक्त राष्ट्र महिला मंत्रालय द्वारा समर्थित है, इसलिए आप आश्वस्त रहें हैं कि आपकी आवाज सही कानों तक पहुंच रही है। महिला बोल सर्वेक्षण में भाग लेना बहुत सरल है ।

सर्वेक्षण में आपकी भागीदारी यह सुनिश्चित करेगी कि देश भर में महिलाओं को सम्मान, समानता का जीवन मिलेगा।

The MahilaBol survey will respect the privacy of all respondents and therefore maintain strict confidentiality of the details provided. The 5 minute survey is also available in many regional languages. Speak up and encourage other women to participatein the survey.

Together we can make the work place free from sexual harassment for every working women.

Take the survey NOW! by giving a calling on 0124-4007444  or clicking the online link.

महिला बोल सर्वेक्षण में हम सभी उत्तरदाताओं की गोपनीयता का सम्मान करेने का आश्वासन देतेे हैं । हम आपसे वादा करते हैं कि प्रदान की गई जानकारी की सख्त गोपनीयता बनाई रखी जाऐगी। यह सर्वेक्षण कुल 5 मिनट में भरा जा सकता है व कई क्षेत्रीय भाषाओं में उपलब्ध है। हम आप से निवेदन करते हैं कि सर्वेक्षण में भाग लेने के लिय अन्य महिलाओं को भी प्रोत्साहित करें।

साथ मिल कर हम हर कामकाजी महिलाओं के लिए यौन उत्पीड़न से मुक्त कार्यस्थल बना सकते हैं।

अब सर्वेक्षण भरें!

सर्वेक्षण भरने के लिये 0124-4007444 पर कॉल दें या ऑनलाइन लिंक पर क्लिक करें।

Special Thanks To :